ऑनलाइन कला प्रदर्शनी- मौका या धोखा

ऑनलाइन कला प्रदर्शनी

ऑनलाइन कला प्रदर्शनी- मौका या धोखा ? चलिए जानते हैं की ये मौका है या धोखा|

आज के दौर में ऑनलाइन कला प्रदर्शनी कला जगत में एक बहुत प्रचलित नाम हैं|ऑनलाइन कला प्रदर्शनी कला व कलाकारों के प्रसार व प्रचार का एक सबसे बड़ा माध्यम के रूप में उभरा है|

यह एक ऐसा मध्यम हैं जो आप का व आपका कला का परिचय घर पूरी दुनिया से करता है| मगर क्या ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी के नाम पर कहीं कलाकारों के साथ धोख़ा तो नहीं हो रहा है?

आइये इस प्रश्न के साथ-साथ ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी से जुड़े और भी कई महत्वपूर्ण पहलुओं पर बात करते हैं| यह लेख ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी से जुड़ीं सभी बातों की पड़ताल करेगा| अगर आप एक कलाकार हैं या कला प्रेमी हैं तो ये लेख आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है|

ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी क्या है?

ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी कला प्रदर्शनी वो आभासी कला प्रदर्शनी है जो इन्टरनेट के माध्यम से किसी वेबसाइट या पोर्टल पर आयोजित की जाती है|

वास्तव में किसी वेबसाइट पर चित्रों या पेंटिंग्स की तस्वीरों को प्रदर्शन करना ही ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी कहलाती है|

बैसे तो यह वास्तविक कला प्रदर्शनी जो गैलरी में आयोजित की जाती है उससे बिलकुल भिन्न है| मगर दर्शकों के मामले में ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी वास्तविक कला प्रदर्शनी से कई गुना आगे है| ऑनलाइन प्रदर्शनी में एक दिन में ही इतने दर्शक आपकी कला को देख सकते हैं जितने दर्शक वास्तविक गैलरी वाली प्रदर्शनी में शायद पुरे हफ्ते में भी ना आये हों|

ऑनलाइन कला प्रदर्शनी के लाभ

सही प्रकार से ऑनलाइन कला प्रदर्शनी आयोजन को जानना आवश्यक है| आयोजन करने वाला संगठन या व्यक्ति आपसे इसके बदले कुछ निर्धारित शुल्क भी ले सकता है| एक सही प्रकार की ऑनलाइन कला प्रदर्शनी में कलाकारों को निम्नलिखित सुविधाएँ दी जातीं हैं:

  • कला कृतियों की फोटो को अपने पोर्टल या वेबसाइट पर प्रदर्शन करना
  • आपकी कला का अपने सोशल मीडिया व अन्य मीडिया में समुचित प्रचार व प्रसार
  • अपने दर्शकों को ईमेल के माध्यम से प्रदर्शनी का प्रचार व प्रसार
  • कलाकारों को डिजिटल और वास्तविक प्रमाणपत्र
  • कलाकृतियों को अपनी वेबसाइट या ऑनलाइन प्रदर्शनी को 3 से लेकर 5 साल तक अपने वेबसाइट पर रखना|

ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी- मौका

वास्तव में आज के समय में कला से जुड़े सभी लोगों के लिए यह एक सबसे बड़ा मोका है| यह कलाकार को कितने प्रकार से लाभ देगा इसकी कोई सीमा नही| ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी में अपार संभावनाओं के साथ अपार जन समूह तक पहुँच भी है|

इस ऑनलाइन माध्यम के महत्व या लाभों को हम इस प्रकार देख सकते हैं:

  • असंख्य लोगों तक अपने आप को व अपनी कला को पहुँचाने का माध्यम
  • यह मध्यम कला जगत से सीधे संपर्क बनाने का मोका है| कभी कभी तो कला जगत के महत्वपूर्ण लोग इस माध्यम के द्वारा स्वयं ही आपसे संपर्क करेंगे|
  • आसान व सुरक्षित कला प्रचार का मध्यम
  • पारंपरिक कला प्रदर्शनी की तुलना में आसान, कम समय, कम उर्जा, और कम रुपए खर्च करने वाला माध्यम|
  • यह मध्यम आपका परिचय समूचे जगत से करता है
  • यह एकमात्र ऐसी प्रदर्शनी है जो एक बार लग जाय तो 3 से 5 साल तक लगी रहती है| जो एक कलाकार के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण व लाभकारी बात है|
  • इसके माध्यम से आपकी ऑनलाइन एक पहचान बनती है| यदि आप इसमें ज्यदा सक्रीय हुए तो भविष्य में आपके नाम व काम को गूगल में भी खोजा जा सकेगा|
  • संक्षिप्त में कहें तो एक सही ऑनलाइन आर्ट प्रदर्शनी में कलाकार को लाभ ही लाभ हैं| मगर प्रदर्शनी सही प्रकार की होनी चाहिए|

ऑनलाइन प्रदर्शनी – एक धोखा

हर एक चीज़ के कुछ नकारात्मक पहलु भी होते हैं| अतः ऑनलाइन कला प्रदर्शनी के भी कुछ नकारात्मक पहलु हैं|

कला जगत के सभी लोगों को इन नकारात्मक पहलुओं को जानना जरुरी है| चलिए इन नकारत्मक पहलुओं पर नज़र डालते हैं:

  • कुछ आयोजक बिना उचित वेबसाइट या पोर्टल के ही ऑनलाइनकला प्रदर्शनी आयोजित कर रहे हैं| जबकि प्रदर्शनी की लगने वाली जगह उस प्रदर्शनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है|
  • देखा जा रहा है कि बिना उचित रजिस्टर्ड संस्था या समिति के ही लोग व्यक्तिगत रूप से ऑनलाइन आयोजन कर रहे हैं और प्रमाण पत्र दे रहें है| बिना रजिस्टर्ड संस्था के प्रमाण पात्र की क्या ओचित्य है ये आप जान सकते हैं|
  • देखा तो ये तक गया है की व्हाट्सएप तक पर भी लोगों ने ऑनलाइनकला प्रदर्शनी आयोजित कर दी है| कला आयोजन इतना भी हलके में आयोजित नही किया जाना चाहिए की उसकी गरिमा हे न रहे|
  • कुछ ऐसे उतावले लोग भी हैं जो सस्ती लोक्रियता चाहते हैं| ये लोग पहले से ही काम कर रहे संगठनों के नाम से मिलते जुलते नाम रख लेते हैं| फिर उनसे मिलते जुलते आयोजन करवा कर लोगों को भ्रमित करते हैं| जबकि वो बिना रजिस्टर्ड संस्था के काम कररहे हैं|

ऑनलाइन आयोजन में प्रतिभाग करते समय ध्यान रखने वाली बातें

किसी भी ऑनलाइन कला प्रदर्शनी में प्रतिभाग करने से पहले निम्नलिखित बातें जरुर सुनिश्चित करें:

प्रदर्शनी का माध्यम

प्रदर्शनी का मध्यम एक महत्वपूर्ण बात है| अतः जरुरी है की ऑनलाइन प्रदर्शनी किसी सही डोमेन वाली वेबसाइट पर हो|

अवधि

यह भी सुनिश्चित करें के प्रदर्शनी वेबसाइट पर कब तक रहेगी| अमूमन वेबसाइट पर प्रदर्शनियां 3 से 5 साल तक आयोजक रखते हैं|

आयोजक

आयोजक को जानना व समझान आवश्यक है| संगठन के उदेश्य, मिशन व विज़न पर नज़र डालें|

पिछली गतिविधियाँ

उसकी सभी वेबसाइट व सोशल मीडिया में उसके पिछले 2 वर्ष की गतिविधियों को देखें| रजिस्टर्ड है या नही ये भी देखें|

दी जाने वाली सुविधाएँ

जैसा की ऊपर ऑनलाइन कला प्रदर्शनी के लाभ में कई बिंदु बताये गये हैं| वो सारे बिन्दुओं को सुनिश्चित करें| कम से कम इन बातों का प्रतिभाग करने से पहले आप अवश्य जान लें:

  • प्रदर्शनी वेबसाइट पर है या नही?
  • प्रदर्शनी 3 या 5 साल तक वेबसाइट पर रहेगी या नही?
  • सर्टिफिकेट किस प्रकार के मिलने है-
  • कैटलॉग
  • सोशल मीडिया व यू टूयूब पर प्रमोशन
  • पुरुस्कार या उपहार यदि हैं तो क्या और कसे हैं?

ऑनलाइन कला प्रदर्शनी- मौका या धोखा? इस प्रश्न का उत्तर जानना अब आपको असान है|

इसमें अपर संभावनाएं व मोके हैं| यह आज के समय की मांग भी है|

किन्तु अगर उपर बताये गये महत्वपूर्ण बातों पर अपने गौर नही किया तो में से धोखा भी हो सकता है| अतः आप धोखे से बचें और इस मौके का भरपूर लाभ लें|

वास्इतव में, इस लेख का उदेश्य कला जगत के लोगों को ऑनलाइन कला के आयोजनों के प्रति जागरूक करना था|

आपका इस बारे में क्या अनुभव है-ऑनलाइन कला प्रदर्शनी- मौका या धोखा? अपना उत्तर हमें नीचे कमेंट करके जरुर बताएं|

1 thought on “ऑनलाइन कला प्रदर्शनी- मौका या धोखा”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *